डायबिटीज होने पर क्या न खाए

बीमार शरीर के साथ जीवन-यापन करना बहुत ही मुश्किल होता है लेकिन एक स्वस्थ टाइम टेबल और लाइफस्टाइल से आप स्वस्थ और लम्बा जीवन जी सकते है। डायबिटीज, मधुमेह या जिसे आम भाषा में सुगर कहा जाता है एक साइलेंट किलर के तौर पर जाना जाता है। ये उन बीमारियों में से एक है जिसके चपेट में अगर आप एक बार आ जाते है तो इसे ठीक करना नामुमकिन होता है।

लेकिन बहुत से ऐसे उपाय है जिन्हें फॉलो करके आप मधुमेह से बच सकते है और यदि मधुमेह हो भी चुका है तो भी कण्ट्रोल हो जायेगा।

मधुमेह के मरीजों के लिए नुकसानदेह (Harmful to Diabetic Patients)

मीठा खाद्य पदार्थ (Sweet foods): मधुमेह के दौरान खून में शर्करा की मात्रा बढ़ जाती है और मीठा खाने से सुगर लेवल और ज्यादा बढ़ने लगेगा। इसीलिए हर तरह की मीठी वस्तुयों को अवॉयड करे।

मैदे से बनी चीजें (Made with Maida): मैदे में शर्करा और कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। मैदे से बनी कोई भी वस्तु डायबिटीज के रोगियों को नहीं खानी चाहिए। इससे कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ता है, वजन बढ़ता है और ब्लड में सुगर का लेवल भी बढ़ने लगता है। मैदा वजन बढाने में बहुत ही इफेक्टिव होता है इसमें हाई कैलोरी होती है। तो मैदे से बनी चीजों को अवॉयड ही करें।

कभी भी भूखे न रहे (Never be hungry): जिन लोगों को डायबिटीज की शिकायत होती है उन लोगों को कभी भी भूखे नहीं रहना चाहिए। इन्हें थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ न कुछ हेल्दी खाते रहना चाहिए।

घी, तेल और ऑयली चीजों को न कहे (Do not eat oil and oily items): घी, तेल और ऑयली फ़ूड में बहुत आधी वसा और कार्बोहाइड्रेट होता है। जो मधुमेह के रोगियों के लिए नुकसानदेह होता है। कोशिश करे की चोकर युक्त रोटी खाए और वो भी बिना घी के। ऑयली फ़ूड हमारे बैड कोलेस्ट्रोल को बढ़ावा देता है जो हार्ट डिजीज के लिए भी जिम्मेदार होता है।

ड्राईफ्रूट्स से परहेज (Avoiding dry fruits): ड्राई फ्रूट्स का सेवन वजन को तेजी से बढाने में बहुत ही उपयोगी होता है इसमें मौजूद पोषक तत्व बॉडी में केलोरी को बढाते है लेकिन डायबिटीज के रोगियों को अपना वजन बढ़ने नहीं देना चाहिए इसका सीधा असर आपके सुगर लेवल पर पड़ता है। अगर आप ड्राई फ्रूट्स खाना भी चाहते है तो उसे पहले कुछ देर ठन्डे पानी में भिगो कर रख दे और फिर इसका सेवन करे।

एल्कोहल और कैफीन युक्त चीजों का न करे सेवन (Avoid Alcohol and caffeine): मधुमेह के रोगियों को शराब, धुम्रपान, मीठी चाय और कॉफ़ी का सेवन नहीं करना चाहिए। इन सब में प्राकृतिक तौर पर ग्लूकोज मिला होता है साथ ही इसमें कैफीन की मात्रा अधिक होती है जिससे मधुमेह को और अधिक बढ़ावा मिलता है।

करवाते रहे जांच (Routine Checkup): मधुमेह के रोगियों को नियमित तौर पर अपने ब्लड में सुगर की मात्रा की जांच करवाते रहना चाहिये। ब्लड टेस्ट के अल्वा यूरिन टेस्ट हर 3 महीने पर करवाए। ध्यान रखे की मनुष्यों में ब्लड सुगर लेवल 80 से 140 मिली ग्राम होना चाहिए। आप खुद भी हर हफ्ते अपना सुगर लेवल जांच करते रहे।

व्यायाम करे (Do Yoga and Exercise): व्यायाम करना बहुत ही जरुरी है। लेकिन ध्यान रखे की कोई भी शारीरिक मेहनत वाला काम अथवा व्यायाम न करे। सुबह-शाम हल्की सी वाल्किंग करे और रोजाना करीब 15 मिनट योग जरुर करे।

तनाव कम करे (Reduce stress): तनाव डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत ही घातक होता है तो कोशिश करे की जितना हो सके तनाव से दूर रहे। बहुत अधिक दिमाग पर जोर देकर कोई कार्य न करे।

Add your comment

Your email address will not be published.